December 11, 2019

Breaking News

डॉ.राशि सिन्हा काका कालेलकर साहित्य सम्मान – 2019 के लिए नामित

utkarshexpress.com / नवादा (बिहार) / नवादा की लेखिका डॉ.राशि सिन्हा का चयन काका कालेलकर सम्मान हेतु किया गया है साहित्य, समाज, कला, शिक्षा व पत्रकारिता जैसे पाँच क्षेत्रों में अखिल भारतीय स्तर पर अपने अपने क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान देने हेतु एक ही व्यक्ति का चयन किया जाता है.इसी के तहत् साहित्य में रचनात्मक श्रेष्ठता के आधार पर नवादा की लेखिका डॉ.राशि सिन्हा का चयन किया गया है. दिल्ली के गाँधी हिंदुस्तानी साहित्य सभा एवं विष्णु प्रभाकर प्रतिष्ठान नोएडा द्वारा लिये गये इस चयन कमेटी में देश के वरिष्ठ पत्रकार लतान प्रसून तथा साहित्य के पुरोधा विष्णु प्रभाकर के पौत्र अतुल प्रभाकर व अन्य शामिल थे. काका कालेलकर सम्मान देश के प्रसिद्ध विचारक, साहित्यकार, पत्रकार, समाजसेवी व शिक्षा शास्त्री दत्तात्रेय बालकृष्ण कालेलकर के नाम पर युवाओं को दिये जाने वाले देश के श्रेष्ठ सम्मानों में एक है.गाँधीवादी विचारधारा के समर्थक, सर्वोदय पत्रिका के संपादक हिंदी ओर गुजराती साहित्य के पुरोधा काका कालेलकर ने साहित्य अकादमी की स्थापना में भी भूमिका निभाई थी.कार्य क्षेत्रों में निपुणता की वजह से महात्मा गांधी जी ने उन्हें’ काका’ नाम दिया था. गौरतलब है कि प्रत्येक वर्ष प्रदान किये जाने वाले इस सम्मान हेतु इस वर्ष नवादा की डॉ.राशि का चयन किया गया है.डॉ.राशि ने अब तक, माँ जीवन की आशा, मुट्ठी भर धूप, (उपन्यास), आखिर टूटना क्यों (उपन्यास) के लेखन के अतिरिक्त समकालीन काव्य धारा तथा समकालीन कथा धारा के संपादन के साथ-साथ कई पुस्तकों की भूमिका लेखन का भी काम किया है.हिंदी के अतिरिक्त अंग्रेजी में द चर्पी बर्ड्स नामक बालगीत की लेखिका भी है,. इसके अतिरिक्त वो राष्ट्रीय स्तर की कई हिंदी तथा अँग्रेजी पत्र-पत्रिकाओं में लिखती आईं हैं.डॉ.राशि हिंदी, अँग्रेजी के साथ मगही भाषा में भी लेखन कार्य करती हैं.साहित्य में उनके उल्लेखनीय योगदान हेतु अब तक कई सम्मान प्राप्त कर चुकी डॉ.सिन्हा को यह सम्मान २१दिसंबर को देश की राजधानी दिल्ली में प्रदान किया जाएगा.

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *