गणेश चतुर्थी - कर्नल प्रवीण त्रिपाठी

pic

दिवस चतुर्थी आज है, गणपति आये द्वार। 
स्वागत को आतुर सभी, सजते हैं पंडाल। 
फूलों की माला सजे, तिलक सोहता भाल।। 
गणपति की आराधना, मिलकर करते लोग। 
स्थापित कर पूजन करें, और लगायें भोग।।।

हे गणनायक नाथ गजानन विघ्न सदा हर एक हरेंगे।
दीन-दुखी जन के सब संकट विघ्न अनेक सदैव टरेंगे।
देकर बुध्दि विवेक हमें गुण शील बनाय कृतार्थ करेंगें।
संग रहें कमला प्रभु के खुशियाँ घर-आँगन नित्य भरेंगे।1
- कर्नल प्रवीण त्रिपाठी, नोएडा, उत्तर प्रदेश
 

Share this story