मेडिकल इक्‍यूपमेंट्स की कमी से रूसी मरीजों को हो रही दिक्कत 

world

 रूस और यूक्रेन की जंग का असर जहां पूरी दुनिया पर पड़ा है वहीं इन दोनों को भी इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। रूस में भी इस जंग का असर साफ तौर पर दिखाई दे रहा है। आपको बता दें कि रूस के हाथों में जहां यूरोप को होने वाली गैस और तेल सप्‍लाई की चाबी है तो यूरोप के हाथों में उसके बीमार मरीजों का जीवन है। ये सुनने में भले ही अजीब लगता है कि लेकिन हकीकत यही है। 

जब से रूस और यूक्रेन के बीच जंग शुरू हुई है तभी से ही रूस में दवाओं और दूसरे जीवन बचाने में काम आने वाली चीजों की कमी हो गई है। यहां पर ये बताना बेहद जरूरी है कि रूस मेडिकल डिवाइस के लिए पश्चिमी देशों पर निर्भर है। यूक्रेन से युद्ध के बाद से ही उसका ये क्षेत्र बुरी तरह से बर्बादी की राह पर है। रूस बड़ी संख्‍या में मेडिकल क्षेत्र में इस्‍तेमाल होने वाली चीजों को पश्चिम से ही मंगवाता है। इसमें पेसमेकर, रेडियोथेरेपी डिवाइस तक शामिल है। इनको रूस यूरोपीयन यूनियन और अमेरिका से मंगवाता है। दोनों ने ही फिलहाल यूक्रेन से युद्ध के चलते रूस पर कई तरह के कड़े प्रतिबंध लगाए हैं। बड़ी और जरूरी मेडिकल डिवाइस की वजह से लोगों का जीवन संकट में है। 

Share this story