धूम्रपान व मद्यपान  जैसी बुरी आदतों से 2483 करोड़ की हुई कमाई 

धूम्रपान व मद्यपान जैसी बुरी आदतों से 2483 करोड़ की हुई कमाई

Utkarshexpress.com देहरादून  धूम्रपान मद्यपान  जैसी बुरी आदतों से भले ही आम जनता को नुकसान हो रहा हो लेकिन सरकार की टैक्स कमाई में इससे भारी इजाफा हो रहा है। उत्तराखंड सरकार को शराब, बीड़ी तथा सिगरेट की बिक्री पर टैक्स के रूप में 2482 करोड़़ 88 लाख की कमाई हुई है। यह खुलासा सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन (एडवोकेट) को राज्य कर विभाग द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूचना से हुआ। काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्न एडवोकेट नेआयुक्त कर कार्यालय वाणिज्य कर मुख्यालय सेप्र्रदेश भर में शराब, बीड़ी, सिगरेट पर वसूले गए टैक्स राजस्व की धनराशियो की सूचना मांगी थी। इसके उत्तर में राज्य कर मुख्यालय की लोक सूचना अधिकारी/उपायुक्त नीलम ध्यानी ने वर्ष वार राजस्व का विवरण उपलब्ध कराया है। श्री नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार उत्तराखंड गठन के बाद वर्ष 2001-02 से 2020-21 (फरवरी 2021 तक) शराब पर विभाग ने 1908.54 करोड़ टैक्स वसूला है। चैकाने वाली बात यह है कि वर्ष 2020-21 में कारोना काल के 11 महीनों में 2019-20 के 12 महीनोभी 16 करोड़ रूपये अधिक टैक्स वसूला गया है। इसके अतिरिक्त सिगरेट, सिगार, तम्बाकू उत्पादन पर वर्ष 2010-11 से जी.एस.टी. लागू होने (जून 2017 तक) 574.34 करोड़ टैक्स वसूला गया है। इसी प्रकार बीड़ी पर 2010-11 से 2017-18 (जून 2017 तक) 58.51 करोड़  रूपये वैट/सैल्सटैक्स वसूला गया है।  नदीम को उपलब्ध आंकड़ो के अनुसार शराब के टैक्स राजस्व 2001-02 के कुल 15.9 करोड़ से 2020-21 में लगभग 15 गुणा होेकर 235.26 करोड़ हो गया है। 2001-02 में शराब सेे टैक्स कमाई 15.9 करोड़ भी जो प्र्रति वर्ष क्रमशः 18.01, 21.08, 21.57 होते हुयेे  पांच साल में 2006-07 में दुगनी 31.79 करोड़ हो गयी। 2007-08 से प्रति वर्ष क्रमशः 37.62, 50.58, 56,82, 83.98 होते हुये दस साल 2011-12 मं पांच गुनी से अधिक 92.12 करोड़ हो गयी। 2012-13 से प्र्रति वर्ष 108.09, 89.77, 100.55, 145.17 होते हुये 2016-17 में नौगुनी से अधिक 146.76 करोड़ हो गयी। 2017-18 से प्रतिवर्ष 185.72, 219.76, 219.5 होते हुये 2020-21 (फरवरी तक) में लगभग 15 गुणा 235.26 करोेड़ रूपये होगयी है।
श्री नदीम को उपलब्ध सिगरेट पर टैक्स वसूली के आंकड़ों के अनुसार सिगरेट, सिगार से भी राज्य सरकार की कमाई में वृद्धि हुई है। वर्ष 2010-11 में जहां 28.75 करोड़ रूपये की कमाई हुई वह 2016-17 में लगभग सात गुणा होकर 163.27 करोड़ रूपयेे हो गयी। 2011-12 में 29.25, 2012-13 में 66.91, 2013-14 में 63.83, 2014-15 में 73.31, 2015-16 में 107,55 तथा 2016-17 में 163.27 तथा 2017-118 में जून तक 41.47 करोड़ रूपये के टैक्स/वैट की वसूली हुई। श्री नदीम को उपलब्ध बीड़ी पर टैक्स वसूली केआंकड़ों के अनुसार बीड़ी पर 2010-11 में जहां केवल 6.27 करोड़ रूपये की टैक्स वसूली हुई वह 2016-17 मे 170 प्रतिशत होकर 10.68 करोड़ रूपये हो  गयी।  2011-12 में 8 करोड़, 2012-13 में 13.45 करोड़, 2013-14 में 2.4 करोड़, 2014-15 में 3.56 करोड़, 2015-16 में 11.51 करोड़ ततथा 2016-17 में 10.68 करोड़ तथा 2017-18 (जून 17 तक) में 2.64 करोड़ टैक्स की वसूली हुई हैं।

Share this story