नरेंद्रनगर विधानसभा के क्यारा के गांव भंगेली में बादल फटने से तबाही

नरेंद्रनगर विधानसभा के क्यारा के गांव भंगेली में बादल फटने से तबाही

Utkarshexpress.com नरेंद्रनगर। नरेंद्रनगर विधानसभा के पट्टी दोगी क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत क्यारा के गांव भंगेली में बादल फटने से तबाही मच गयी। बादल फटने से आए जल सैलाब में ग्रामीणों के मकान,खेत-खलियान,खडी फसलें,खाद्यसामग्री,भाँडे-बर्तन,पैदल रास्ते,गूल,फलों के बागीचे सभी कुछ मलबे के ढेर में तब्दील हो गए तो विद्युत पोल उखड़क्षकर धराशायी हो गये।वक्त सायं लगभग 5 बजे का था,इसलिए बडी़ जनहानि होने से बच गई, किंतु चल अचल संपत्ति का काफी नुकसान हुआ है।घटना की सूचना मिलते ही उप जिलाधिकारी युक्ता मिश्र ने तहसीलदार अयोध्या प्रसाद उनियाल से वार्ता के बाद तत्काल पटवारी और कानूनगो को घटनास्थल पर निरीक्षण व मौका-मुआयना के लिए भेजा।उन्होंने तत्काल रिपोर्ट उप जिलाधिकारी युक्ता मिश्र व तहसीलदार अयोध्या प्रसाद उनियाल को घटना से ही प्रेषित की।उधर इस घटना की सूचना पाते ही देवप्रयाग और नरेंद्र नगर के कांग्रेस जिला अध्यक्ष हिमांशु बिजल्वाण सहित कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के घटनास्थल पर पहुंचे। तबाही का यह मंजर देख कर वे भी हैरान व दंग रह गये।उन्होंने पीड़ितों को भरोसा दिलाया कि वैश्विक महामारी कोरोना के इस दौर में बेरोजगार हुए लोगों पर प्रकृति की इस दोहरी मार से हताशा में जी रहे लोगों की हर सभ्मव मदद की जायेगी।हिमांशु बिजल्वाण ने आपदा से त्रस्त भंगेली गाँव के लोगों को समुचित मुआवजा दिलाये जाने की मांगों से संबंधित ज्ञापन नरेंद्र नगर पहुंचकर उप जिलाधिकारी के माध्यम से प्रशासन को प्रेषित किया।उप जिला अधिकारी ने वार्ता में बताया कि उन्होंने घटना की सूचना मिलते ही कानूनगो व क्षेत्र के पटवारी को घटनास्थल पर जाने के आदेश किए जो उसी दिन रात घटनास्थल पर पहुंच गए थे। कानूनगो और पटवारी की रिपोर्ट मिलते हीतहसील प्रशासन ने पीड़ितों को तुरंत राहत और सहायता पहुंचाने का काम किया है। सहायता राशि के साथ राशन/ खाद्यान्न भिजवाने का काम किया गया बताया कि देवचंद सिंह पुंडीर का पूरा मकान क्षतिग्रस्त हुआ हैःजिसका आकलन कर फाइल अप्रूवल के लिए भेजी जा रही है, अग्रिम कार्रवाई के बाद भुगतान की प्रक्रिया की जाएगी।जमीन क्षतिग्रस्त होने सहित अन्य तमाम तरह के नुकसान का पूरा कैलकुलेशन कानूनगो और पटवारी कर रहे हैं।जल्द ही फाइल स्वीकृति के लिए भेजी जाएगी।हिमांशु बिजल्वाण का कहना था कि इस तरह की आपदाओं से पीड़ित लोगों को समुचित मुआवजा दिया जाना चाहिए।महामारी जैसी आपदा के इस दौर में पीड़ित लोगों की सहायता के लिए स्थानीय प्रशासन के काम-काज की सराहना करते हुए बिजल्वाण ने कहा कि फौरी तौर पर दी जाने वाली सहायता ना काफी है। लिहाजा पीड़ितों को नुकसान की पूरी भरपाई किये जाने की मांग बिजल्वाण ने की है।

Share this story