तकनीकी बदलाव के लाभ व हानि (आलेख) - पूनम शर्मा 

pic

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि बदलते दौर के साथ हमारे समक्ष तकनीकी बदलाव बहुत तेजी से हो रहे हैं । हर सिक्के के 2 पहलू होते हैं । उसी प्रकार तकनीकी बदलाव कहीं तो हमारे लिए बहुत लाभप्रद है , और कभी-कभी काफी हानिकारक साबित होता है. अगर तकनीकी बदलाव नहीं आए होते तो, आज घर बैठे सारे काम करना बहुत मुश्किल होता। यहां तक कि अपने सगे संबंधियों को देख पाना । ऑनलाइन शॉपिंग, बैंक, स्कूल , मार्केटिंग , यहांँ तक कि ऑफिस के काम पढ़ाई-लिखाई सब कुछ आज ऑनलाइन मौजूद है ट्यूशन, क्लास, कोचिंग , ऐसा क्या है, जो आज ऑनलाइन मौजूद नहीं है।
ये कहीं ना कहीं यह सब तकनीकी बदलाव की वजह से होने वाले फायदे हैं । जिसकी वजह से हम मिलो दूर बैठकर भी अपने कार्य को सुचारू रूप से कर पा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ इस तकनीकी बदलाव की वजह से काफी असुविधाएं भी जिंदगी में आई हैं। मोबाइल फोन ,टीवी  इन सभी के इस्तेमाल से घर परिवार बिखर रहे हैं । घर के अंदर रहने वाले 4 लोग भी एक दूसरे को नहीं जान पा रहे हैं, क्योंकि उनकी अलग ही अपनी एक दुनिया तैयार होती जा रही है।
आज एक बटन दबाते ही आपको अपनी जरूरत पूरी करने की क्षमता प्राप्त हो चुकी है ,परंतु वहीं पर हमारे निजी जिंदगी की वह सी ऐसी खबरें जिन्हें हम किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहते वह भी बाहर आ जाती हैं।
यहांँ तक कि बच्चों के खेल भी अब मोबाइल फोन, कंप्यूटर पर ही हुआ करते हैं जिसकी वजह से उनसे उनका बचपन तो छीन नहीं रहा है वह हर समय मोबाइल के आसपास रहने की वजह से उन्हें काफी शारीरिक परेशानियों का भी सामना करना पड़ेगा निकट भविष्य में इसके कितने घातक परिणाम सामने आने वाले हैं उसका तो हम अंदाजा भी नहीं लगा सकते।
हमारे समक्ष सारी सुविधाएं हर समय मौजूद रहती हैं । आवश्यकता है हमें यह सोचने पर ध्यान देने की कि हमें किस चीज, किस विषय पर कितना समय देना है। अन्यथा सुबह से शाम बेमतलब की बातों में ही गुजर जाता है। अगर हम किसी चीज का सकारात्मक इस्तेमाल कर सकते हैं । तो कहीं ना कहीं हर सुविधा हमारे यह लाभप्रद साबित होती है लेकिन अगर हम बिना सोचे समझे अपना समय गवा देंगे तो निकट भविष्य में हमें हाथ मलने के सिवाय कुछ नहीं बचेगा।
बेहतर है इनसे उस सुविधाओं का सकारात्मक इस्तेमाल किया जाए। कुछ नया सीखना बहुत अच्छी बात है परंतु बेमतलब का समय व्यतीत कर देना कहीं ना कहीं हमारे भविष्य को अंधकार में धकेल देगा हर इंसान के सही ग़लत की परिभाषा अलग होती है। परंतु रिजल्ट निर्धारित करता है कि वास्तव में आपने अपनी जिंदगी में सही निर्णय लिए थे या गलत. सुविधाएं अक्सर लोगों के तरक्की का कारण बनती हैं । परंतु वही कई जगह ऐसा भी होता है कि यह सुविधाएं लोगों के जिंदगी का नाश कर देती हैं। क्योंकि निर्भर करता है आपने कौन सी सुविधा को किस रूप में इस्तेमाल किया।
उगता सूरज अगर कहीं किसी चीज को नुकसान पहुंचाता है तो किसी को जीवनदान भी देता है ठीक उसी प्रकार सिक्के के दो पहलू की तरह यह तकनीकी साधनों का इस्तेमाल भी दो पहलू के रूप में होता है।
- पूनम शर्मा स्नेहिल , गोरखपुर, उत्तर प्रदेश 

Share this story