चलो केशव - राजीव डोगरा 

pic

चलो केशव तुम, 
फिर से रण क्षेत्र में, 
फिर से युद्ध करते हैं।
बनो फिर से,
मेरे सारथी, 
फिर से अन्याय के विरुद्ध 
हम लड़ते हैं।
आज भी है कौरव 
घर-घर में, 
आओ फिर से मिलकर
उन सब का ,
विनाश करते हैं।
सखा बनो, बंधु  बनो गुरु बनो 
फिर से संग चलकर, 
आओ मिल सब 
शत्रुओं का संहार करते है।
- राजीव डोगरा 
पता-गांव जनयानकड़
कांगड़ा हिमाचल प्रदेश
rajivdogra1@gmail.com

Share this story