बच्चे मन के सच्चे  = ममता जोशी 

pic

बोली नानी सुनो कहानी,
न कोई राजा न कोई रानी ।
कडवा बोल कभी न बोलो ,
जब भी बोलो मीठा बोलो ।।
दिल के तुम दरवाजा खोलो ,
कभी भी तुम झूठ न बोलो ।
मन हैं चंचल, चोर ,चकोर ,
हद से ज्यादा तुम करो न शोर ।।
पढनें में तुम आगे आओ,
काम से भी तुम जी न चुराओ ।
जो करना है अब कर डालो ,
कल पर तुम उसको कभी न टालो ।।
बच्चे मन के होते सच्चे,
दोस्त सभी के होते अच्छे ।
माँ-बापो के होते प्यारे,
घर में होते सबके न्यारे।।
= ममता जोशी , प्रताप नगर 
 टिहरी गढ़वाल उतराखण्ड

Share this story