मेहनत से अर्जन  करना - मुकेश तिवारी

pic

लालच , लोभ , मोह , अहंकार से,

खुद जीवन को  तर्जन मत करना।

जो  भी  करना  कल्याणकारी  हो,

ईमानदारी,मेहनत से अर्जन करना।

दण्डित  होना  देख आईना अपना,

अगर हो  जाये  गुनाह कोई जद में।

मांफी  माँगकर   स्वतंत्र  हो  जाना,

दिल  से  कभी  अनबन  मत करना।

हों माँ  शारदेय  से प्रार्थना जब-जब,

तब -तब होगा उद्घोष  संज्ञान का।

हो विकास नित्य पूजा से श्रद्धा का,

प्रज्वल  होगा पुनः दीपक  ज्ञान का।

लालच  , लोभ  , मोह  , अहंकार से

खुद जीवन   को तर्जन  मत  करना

जो   भी  करना   कल्याणकारी  हो

ईमानदारी ,मेहनत से अर्जन  करना

- मुकेश तिवारी - वशिष्ठ  मध्यप्रदेश

Share this story