भूल जाऊँ  = विम्मी

भूल जाऊँ = विम्मी

कभी अल्फाज़ भूल जाऊँ, 
कभी ख्यालात भूल जाऊँ,
कभी सोना भूल जाऊँ, 
कभी साँस लेना भूल जाऊँ, 
कभी चेहरे की हँसी भूल जाऊँ,
कभी लबों की हर खुशी भूल जाऊँ, 
कभी होठों की मुस्कान भूल जाऊँ,
कभी दिल की धङकन भूल जाऊँ, 
कभी दीदार भूल जाऊँ, 
कभी करार भूल जाऊँ, 
कभी इज़हार भूल जाऊँ, 
कभी इकरार भूल जाऊँ, 
कभी तुझसे जो मैं दूर जाऊँ, 
तो जाते हुये खुद को तेरे पास भूल जाऊँ !!
= विम्मी (Vimmy) ,   लखनऊ

Share this story