दोस्ती - जया भराड़े बड़ोदकर 

pic

दोस्ती,
बंधन है प्यार और विश्वास का,
सुकून है हर एक का,
शहर में है प्राण का,
गावों मे सदभावना का,
तन मन से समर्पित,
हर एक इंसान का,
नफरत नही धोखा नही,
जहाँ असली चेहरा है,
कुदरत का,
ढकोसला झूठा आड़मबर,
नही होता,
संसार वहाँ का कभी
बर्बाद नही होता
फिक्र और सम्मान, 
से भरा जहाँ
हर एक पल है गुजरता
अपनेपन से डूबा हुआ,
चाँद और सूरज
भी वहॉ है चमकता
जीवन मै नही कुछ भी
सिवा इसके शेष है रहता
नाम ही है ये बस एक
जो मिल जाए तो
पाले जीवन मे सफलता
किस्मत में अगर हो
दोस्ती तो उससे बड़ा
धनवान कोई नहीं होता
जन्नत मिल जाती हैं
उससे बड़ा खुश नसीब
दुनिया मे और कोई नहीं होता
 - जया भराडे बड़ोंदकर
 नवी मुंबई (महाराष्ट्र) 

Share this story