ग़जल - अनिरुद्ध कुमार

pic

दोस्तों को है पता हम कौन है,

दुश्मनी देती जता हम कौन है।

                  

ली परीक्षा हर घड़ी तूफान ने,

आँधियाँ देती बता हम कौन है।

                   

जोर हरदम आजमाती सरहदें,

वादियाँ बोले सदा हम कौन है।

                    

आग का दरिया पलक में लांघते, 

जानती सहमी हवा हम कौन है।

                    

पर्वतों सा है इरादा जान ले, 

होठ पे चर्चे जुंबा हम कौन है।

                     

मौत भी मरने लगी है देखते,  

जिंदगी करती बयां हम कौन है।

                      

भारती के लाल 'अनि' डरते नहीं,

यह तिरंगा बोलता हम कौन है।

- अनिरुद्ध कुमार सिंह, धनबाद, झारखंड।

Share this story