होली है रंगों से भरा त्यौहार =  डा. अनीता शाही सिंह

होली है रंगों से भरा त्यौहार = डा. अनीता शाही सिंह

एक दूजे को रंग लगाओ, 
मन की कड़वाहट को छोड़ो, 
सब मिलके ख़ुशियां मनाओ, 
अपनी परम्परा कभी न छोड़ो, 
होलिका दहन का मतलब समझो, 
हिरणकश्यप के दंभ को तोड़ो, 
भक्त प्रह्लाद को रखना याद, 
कभी न छोड़ना सच का साथ, 
होली तो आज मनाना है, 
रंग गुलाल तो बहाना है, 
दूरियां सारी दिलों की मिटाना है। 
= डा अनीता शाही सिंह, प्रयागराज 

Share this story