प्यार में = झरना माथुर 

pic

मिलते तो पूछते क्या खता हो गयी,
एक चुभन दर्द की मिल गयी प्यार में।

इश्क़ मुझसे जो मेरे जुदा हो गये,
आज चाहत मेरी है जगी प्यार में।

आपको पा सकूँ दिल मे हसरत रही,
बेकरारी ये मेरी बढ़ी प्यार में।

इश्क़ के ही बहाने जो छलते रहे,
उनके हाथो ठगी मै गयी  प्यार में।

जिंदगी का ये "झरना" वही थम गया,
जो कि किस्मत से ठोकर लगी प्यार में।
= झरना माथुर , देहरादून
 

Share this story