पत्रकार = कालिका प्रसाद

pic

नारद जी पहले पत्रकार हुये,
समाचार  संकलित  करते थे,
देवता  से लेकर  दानव  तक,
नारदजी  इन्टरव्यू   लेते  थे।

पत्रकारिता  कठिन कार्य है,
सत्य को ये सामने  लाते है,
लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ है
कलम   इनकी   तलवार  है।

विपरीत परिस्थितियों में कार्य करते,
सत्य जानने के लिये  दौड लगाते,
जान  जोखिम   में   डालकर,
जनहित में  ये  जिम्मेदारी उठाते।

गलत तत्वों की कारगुजारियों को.
समाज के   समुख   ये लाते है,
समाचार की   सत्यता  के लिये,
खतरे से भी ये टक्करा  जाते है।

= कालिका प्रसाद सेमवाल
मानस सदन अपर बाजार, रुद्रप्रयाग  उत्तराखंड
 

Share this story