मां वीणा वादनी वरदान दे - कालिका प्रसाद 

pic

मां वीणा वादनी वरदान दे,
अपनी कृपा बरसाओं मां,
तुम्हारी वंदना कैसे करूं,
मां तुम्हारी अर्चना कैसे करूं,
सभी शब्दों में समाहित तुम्हीं हो,
सभी रागों की प्रतिध्वनित तुम ही हो,
सभी देवों की बुद्धि  तुम्हीं देती हो ।

मां वीणा वादनी वरदान दे
तुम सुमति दात्री हो,
तुम सत्य के आधार हो,
मां तुम्हीं ज्ञान दायिनी हो,
तुम्ही विघा की भण्डार हो,
तुम रही रुप दायिनी हो,
तुम्हीं विवेक, सौन्दर्य का आकार हो।

मां वीणा वादनी  वरदान दे,
तुम जन -जन पर करुणा करो,
तुम दिव्य स्वरूपा हो,
मां तुम्हारी मूर्ति को कैसे गढूं ,
मां मुझे विघा विनय का दान दें,
मुझ अज्ञानी का कल्याण कर,
मां मुझे वरदान दे, मां मुझे वरदान दे।

- कालिका प्रसाद सेमवाल
मानस सदन अपर बाजार, रूद्रप्रयाग
 

Share this story