मां वीणावादिनी कृपा करो - कलिका प्रसाद 

pic

जग में करुणा धार बहा दो,
बैर द्वेष  सब  मिटा दो मां,
कलुष हृदय को धुल दो मां,
मां वीणावादिनी कृपा करो।

हम जड़मति तुम ज्योति स्वरुपा,
दो   सुमति  मां   विद्या  रुपा,
बुद्धि  विनय दो शुभा स्वरुपा,
मां वीणावादिनी कृपा करो।

तुम शुभ  श्री  कल्याणी हो,
भव तारणी तुम ही हो मां,
तम का विनाश तुम कर दो मां,
मां वीणावादिनी कृपा करो।

शान्त चित्त और शुभ चरित्रा,
तन  मन  निर्मल  कर दो मां,
ज्ञान दीप प्रज्वलित  कर दो, 
मां वीणावादिनी कृपा करो।

नित नूतन साहित्य सृजन करुं,
दुखियों का मैं दर्द लिखों मां,
जन-जन का उपकार करुं मां,
मां वीणावादिनी कृपा करो।
- कालिका प्रसाद सेमवाल
मानस सदन अपर बाजार, रुद्रप्रयाग (उत्तराखंड)

Share this story