मेरे खुदा - राजीव डोगरा

pic

मैं फकीर हूं ,
तेरे दर का खुदा
मेरी आजमाइश न कर।
तू पीर है मेरा,
मेरे खुदा 
मेरी जग हंसाई न कर।
मैं कमजोर लाचार हूं,
मेरे खुदा
मेरा तू हम राही बन।
मैं अनजान हूं,
तेरी इस कायनात से 
मेरे खुदा
तू मेरा हमराज बन।
मैं मुरीद हूं तेरा
मेरे खुदा,
तू अब मेरा मुर्शिद बन।
-    राजीव डोगरा,  गांव जनयानकड़
कांगड़ा (हिमाचल प्रदेश)

Share this story