एक चिड़िया - जया भराड़े बड़ोदकर

pic

चिड़िया आती हैं,
सुबह सुबह गाती है,
सुख की किरणों मे,
नहाती है। 
खुशी का पैग़ाम
सुनाती है,
काटो भरा जीवन है,,
मगर जीने की राह
दिखाती है। .
गलियारों मे क्यारियों मे,
घूम घूम कर,
हँसी-खुशी से जीवन
बिताती है। 
आते है कई तूफ़ान राह में, 
हौसला कहा वो खोती है , 
हर पल चहचाती है, 
और सदा ही मुश्किलों मे,
भी देखो कैसे
मुस्कुराती है। 
प्यारी सी ये चिड़िया,
मुझे तो बहुत भाती है। 
- जया भराडे, बड़ोंदकर, नवी मुंबई

Share this story