श्री हनुमान तुम्हें प्रणाम - कालिका प्रसाद 

pic

हे महावीर तुम सब के रक्षक हो,
जो  भी  नाम  तुम्हारा जपता,
उसके  सब  कष्ट हर  लेते हो,
हे पवन   पुत्र   तुम्हें  प्रणाम।

माँ  सीता  के तुम  दुलारे  हो,
प्रभु   राम के  अति  प्रिय  हो,
सुग्रीव   के   तुम   मन्त्री   हो,
श्री हनुमान जी  तुम्हें  प्रणाम।

अधर्मी  तुम  से  भयभीत होते,
असुरों  में  मचती  है खलबली,
हे केसरी नन्दन  तुमको वंदन,
श्री हनुमान जी  तुम्हें  प्रणाम।

तुम्हारे  नाम की बड़ी ही महिमा,
जो भी  तुम्हारा  सुमिरन करता,
उसकी  हर  विपदा   टल जाती,
श्री हनुमान  जी   तुम्हें प्रणाम।

- कालिका प्रसाद सेमवाल
मानस सदन अपर बाजार
रुद्रप्रयाग, उत्तराखंड
 

Share this story