गीत - स्वर्णलता 

pic

मिटा अंधकार इस जग का।
हुआ दर्शन हमें रब का।।

जगत को पार करने को,
लिया अवतार श्री नानक ने।
खुशी का दिवस आया है
हुआ दुख दूर फिर सबका।।
मिटा अंधकार इस जग का,
हुआ दर्शन हमें रब का।।


जपो सब नाम भगवन का,
दूर हो मैल फिर मन का,
करो सब भजन अरु कीर्तन,
मिले सुख चैन जीवन का।।
मिटा अंधकार इस जग का,
हुआ दर्शन हमें रब का।।

सभी में एक है शक्ति,
करो सब उसकी ही भक्ति,
न कोई है भला मंदा,
सभी में नूर बस इक का।।
मिटा अंधकार इस जग का,
हुआ दर्शन हमें रब का।।
- स्वर्णलता , दिल्ली
 

Share this story