छंद - (कोरोना) = जसवीर सिंह हलधर 

छंद - (कोरोना) = जसवीर सिंह हलधर

कोरोना बबाल बना ,कल का सवाल बना ,
तंत्र को झंझोड़ रहा  रोग फिर देश में।

राजनीति ने बुलाया ,चुनावों में चाल  पाया ,
उन्हीं को मरोड़ रहा रोग फिर देश में।।

कुम्भ में नहाने आया ,मौत को बुलाने आया ,
तार फिर जोड़ रहा रोग फिर देश में  ।

इंतजाम तोल रहा , पोल सारी खोल रहा,
सत्य को निचोड़ रहा  रोग फिर देश में ।।

 =जसवीर सिंह हलधर , देहरादून

Share this story