भारत की संस्कृति, सभ्यता, इतिहास जानकर ही नव भारत का निर्माण संभव : डा० नीलिमा मिश्रा

pic

utkarshexpress.com प्रयागराज (डा० नीलिमा मिश्रा) । केन्द्रीय विद्यालय, आई०आई०आई०टी, झलवा (प्रयागराज)  द्वारा आयोजित वेबिनार का विषय-भारतीय ज्ञान प्रणाली, भाषा, कला एवं संस्कृति पर बोलते हुए विद्यालय के प्राचार्य, विजेयेश पाण्डेय ने कहा कि नई शिक्षा नीति का छात्रों को संस्कारवान बनाने एवं राष्ट्र गौरव बोध उत्पन्न करने की एक पहल है । 
भारत की कला और संस्कृति को भारत के बच्चे जानें उस पर गर्व महसूस करें, नैतिक मूल्यों और भारतीय दर्शन को समझें, ऐसी शिक्षा व्यवस्था का बहुत दूरगामी प्रभाव पड़ेगा। डा० नीलिमा मिश्रा शिक्षिका एवं कवयित्री केंद्रीय विद्यालय आईआईआईटी ने अपने सम्बोधन में कहा कि भारत की संस्कृति, सभ्यता, इतिहास, विज्ञान, कला, को जानकर ही हम नव भारत का निर्माण करने में सक्षम होंगे। इस अवसर पर अर्चना जायसवाल, के० के० यादव, आनन्दिनी दीक्षित ने अपने विचार रखे। वेबिनार में विद्यालय की समस्त कक्षाओं के बच्चों एवं अध्यापकों ने उत्साह के साथ सक्रिय सहभागिता की। कार्यक्रम के अंत में पी०जी०टी० जीव- विज्ञान संकाय के देवपाल ने धन्यवाद ज्ञापित  किया।

Share this story