वह लम्हें = प्रदीप सहारे 

pic

वह लम्हें,
वह बाते ।
वह मुलाकाते ।
बन गयी अब ,
बडी दुश्वार ।
अब जब,
उमड़ आता प्यार।
तो !
थोड़ा जाओं बाजार।
लेकर आना,
लहसुन, मीरची सांभर।
@प्रदीप सहारे, नागपुर (महाराष्ट्र)

Share this story