वीणा पाणि मां सरस्वती - कालिका प्रसाद 

pic

वीणा पाणी मां सरस्वती,
सुन लो मेरी करुण पुकार।

झोली मेरी ज्ञान से भर दो,
दूर करो मां जीवन से अंधकार।

जन-जन की वाणी निर्मल कर दो,
हर मुख में अमृत धार बहे।

हर एक प्राणी दूसरे से प्यार करें,
ऐसा हो मां ये सारा संसार ।

विद्या वाणी की देवी मां तुम हो,
मुझ पर भी कुछ उपकार करो।

अंहकार ना आए कभी जीवन में,
करो मां मैं सबका सम्मान ।
- कालिका प्रसाद सेमवाल,
मानस सदन अपर बाजार,
रुद्रप्रयाग उत्तराखंड
 

Share this story