प्राकृतिक दृश्यों से भरपूर चोपता - दुगलबिट्टा की हसींन वादिया 

natinal

utkarshexpress.com "चोपता-दुगलबिट्टा" सुंदर-मनोरम और प्राकृतिक दृश्यों से भरपूर एक बेहतरीन पर्यटक-स्थल है यह विभिन्न प्रजाति के वृक्षों से लदे वनोँ (देवदार, खर्सू, मोरू, बांज, बुराँश, थुनेर, काफ़ल आदि) और सुंदर "मखमली-बुग्यालोँ" के लिये दुनियाँ भर में मशहूर है । तकरीबन 120 वर्गकिमी• क्षेत्र मेँ फैला यह क्षेत्र अपनी प्राकृतिक सुन्दरता और जैव विविधता के लिए विख्यात है, सर्दियोँ मेँ यहाँ जमकर बर्फबारी भी होती है जिसके चलते यहाँ "स्कीइंग " (स्नो-स्केटिंग ) की भी संभावना है ।  यह क्षेत्र रुद्रप्रयाग जनपद मुख्यालय से तकरीबन 65 किमी• और ऊखीमठ से 20 किमी • की दूरी पर स्थित है । इसके 10-15 किमी • के दायरे मेँ तृतीय केदार भगवान "तुँगनाथ" और "मक्कूमठ" (मर्कटेश्वर) जैसे प्रसिद्ध तीर्थस्थल हैं यानि "धार्मिक "और "प्राकृतिक" पर्यटन दोनों ही दृष्टि से यह क्षेत्र बेहद महत्वपूर्ण और अपार संभावनाओं वाला क्षेत्र है, यहाँ पर "गढ़वाली" और "हिन्दी फिल्मों " के अलावा कुछ सीरियलों , शार्ट फिल्म और डॉक्यूमेंटरी की शूटिंग्स भी हो चुकी है यानि "तीर्थाटन","पर्यटन "और "फिल्मांकन "इत्यादि सभी दृष्टि से यह क्षेत्र काफी व्यापक संभावनाओं वाला क्षेत्र है, 

Share this story