हरीश रावत ने पंच प्यारे वाले अपने बयान पर मांगी माफी

politics

utkarshexpress.com चंडीगढ़। बयान देने के बाद यदि विवाद पैदा हो तो उस विवाद का पटाक्षेप करना कांग्रेस के दिग्गज नेता हरीश रावत को अच्छे से आता है।ऐसा कि एक वाकया पंजाब को लेकर हुआ है।पंजाब कांग्रेस के प्रभारी व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने अपने पंच प्यारे वाले बयान के लिए माफी मांगी है। रावत ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और कार्यवाहक अध्यक्ष के लिए पंच प्यारे शब्द का प्रयोग किया था।इसके वाद विवाद और तेज हो गया था। विपक्षी दलों ने रावत के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।विवाद बढ़ता देख बुधवार को पंजाब भवन में हरीश रावत”हरदा” ने पत्रकारों से बातचीत में अपने बयान को लेकर कहा कि उन्होंने गलती की है।कहा कि वह उत्तराखंड में गुरु के घर में झाड़ू लगाकर गलती का प्रायश्चित करेंगे।
हरदा ने आगे कहा कि उनकी मंशा किसी की तुलना पंच प्यारों से करने की नहीं थी।वहीं शिरोमणि अकाली दल के प्रवक्ता डॉ दलजीत सिंह चीमा ने धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगाकर उन पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की। इस अवसर पर रावत ने कहा कि बेअदबी और गोली कांड को अंजाम देने वाले सवाल नहीं कर सकते हैं। पंजाब सरकार के प्रवक्ता और विधायक राजकुमार वेरका हरीश रावत के पक्ष में उतर आए। वेरका ने कहा कि जो अपने होते हैं वही प्यारे होते हैं हरीश रावत सभी धर्मों का सम्मान करते हैं,ये सब भलीभांति जानते हैं।

Share this story