आ गई शुभ घड़ी, सजे बाजार तो खरीदार भी हुए तैयार : शंभू नाथ गौतम

uk

utkarshexpress.com - आखिरकार आ गई खरीदारी करने के लिए सबसे बड़ी 'शुभ घड़ी'। इसके साथ यह दिन धन वर्षा के लिए भी जाना जाता है। आज के दिन जैसे बाजार भी बोलता है और कहता है, सोना ले लो, चांदी ले लो, बर्तन ले लो, बाजार में जो कुछ नजर आए जरूर ले लो। अगर यह सब चीजें समझ में नहीं आई है तो कोई दोपहिया और चार पहिया गाड़ी ही घर ले आओ। बाजार गए हो तो खाली हाथ मत आओ, कुछ न कुछ जरूर खरीदना। खरीदारी करने के लिए कई दिनों से लोगों ने पूरी 'प्लानिंग' कर रखी है। यही एक ऐसा पर्व है जिसे पूरे साल भर में सबसे अधिक खरीदारी के लिए जाना जाता है। इस दिन बाजारों में धन की वर्षा होती है। खरीदारी करना बेहद शुभ माना जाता है। आज धनतेरस है। कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को धनतेरस पर्व मनाया जाता है। इसके लिए विशेष रूप से बर्तन और ज्वेलरी बाजार पूरी तरह सज चुका है। व्यवसायियों ने अपनी-अपनी दुकानों को रंग-बिरंगे गुब्बारे और रंगीन लाइटें लगाकर आकर्षक रूप से सजाया है। जिसकी वजह से रौनक दिखाई पड़ रहा है। कोरोना महामारी में व्यापारियों और दुकानदारों को उम्मीद है कि काफी समय बाद अच्छी बिक्री होगी। बता दें कि धनतेरस का दिन खरीदारी है। इस मौके पर देश के छोटे से लेकर बड़े शहरों तक बाजार खूब जगमग हो रहे हैं। 

Share this story