उत्तराखंड में मौसम का बदला मिज़ाज, अधिकतर पर्वतीय क्षेत्र में हुआ हिमपात

उत्तराखंड में मौसम का बदला मिज़ाज, अधिकतर पर्वतीय क्षेत्र में हुआ हिमपात

utkarshexpress.com देहरादून। विनोद निराश। उत्तराखंड में लगातार चौथे दिन हो रही बारिस के कारण मौसम का मिजाज बदलता जा रहा है। चारधाम समेत औली और आसपास की चोटियों में हिमपात हुआ है। मसूरी, चकराता समेत कई इलाकों में बारिश भी हुई। मौसम विभाग ने पर्वतीय इलाकों में कहीं - कहीं ओलावृष्टि और मैदानों में तेज हवाएं चलने की संभावना जताई है।
मसूरी, चकराता और आसपास के इलाकों में जोरदार ओलावृष्टि होने के कारण ठण्ड बढ़ गई । मसूरी में लाल टिब्बा, गनहिल, मलिंगार, कुलड़ी बाजार, मालरोड, लाइब्रेरी बाजार में ओलावृष्टि से सड़कों पर सफेद चादर बिछ गई। चारधाम, हेमकुंड साहिब, औली, हर्षिल समेत ऊँची चोटियों पर हिमपात देखने को मिला। बर्फबारी के चलते हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग पर सेना के जवानों को बर्फ हटाने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। औली में भी दो इंच से अधिक बर्फबारी हुई। फूलों की घाटी के अलावा ऊंची चोटियों पर भी लगातार बर्फबारी हो रही है।
देहरादून समेत प्रदेश के ज्यादातर शहरों में बारिश के कारण तापमान गिर गया। मसूरी, नैनीताल समेत अन्य पर्वतीय शहरो में बारिश के कारण पारे में गिरावट दर्ज़ की गई है। उत्तरकाशी जिले में भी पिछले तीन घंटे से लगातार बारिस हो रही है। गंगोत्री, यमुनोेत्री, हर्षिल घाटी, हर की दून घाटी में बर्फबारी हुई  । बेमौसमी बारिश और ओलावृष्टि से सबसे अधिक नुकसान सेब और गेहूं की फसल को हुआ है। 
कुमाऊं के सभी जिलों में बुधवार रात से गुरुवार सुबह तक बारिश का दौर जारी रहा। पिथौरागढ़ जिले में उच्च हिमालय और कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग में छियालेख, गुंजी से आगे व मुनस्यारी के खलियाटॉप तक हिमपात हुआ।

Share this story