उत्तराखंड सरकार एवं महानिदेशक सूचना ने कोविड -19 संक्रमित पत्रकारों हेतु की बड़ी पहल

उत्तराखंड सरकार एवं महानिदेशक सूचना ने कोविड -19 संक्रमित पत्रकारों हेतु की बड़ी पहल

utkarshexpress.com देहरादून। विनोद निराश। वैश्विक महामारी कोविड  -19 के दौरान ख़बरों के संकलन एवं समाचारों के  प्रचार- प्रसार  हेतु मीडियाकर्मी जनता एवं सरकार के मध्य सेतु की तरह काम करते है। ऐसी महामारी के दौरान मीडियाकर्मी जोखिम उठा कर जिस प्रकार सरकार की नीतियों को जनता तक पहुंचाते है वो कार्य किसी सोल्जर से कम नहीं है। काफी लम्बे समय से मीडियकर्मियों को कोरोना वॉरियर की श्रेणी में रखने की मांग पत्रकार कर रहे थे। मगर इस तरफ न तो सरकार का ही ध्यान गया , न ही सूचना एवं लोकसंपर्क विभाग का, मगर सूचना महानिदेशक रणवीर सिंह चौहान ने पत्रकारों की मांग को जायज़ मानते हुए उसका संज्ञान लिया। वैसे भी उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। राज्य में जिस तेजी के साथ कोरोना संक्रमितों की संख्या एवं मरने वालों की संख्या बढ़ रही है बढ़ रही है , उसने सभी भयभीत है। संक्रमितों के साथ राज्य में मृत्यु दर के आंकड़ों में भी रोज़ाना इजाफा हो रहा है। ऐसे में इतनी विकट परिस्थित्तियों में अपनी जान जोखिम में डालते हुए कई पत्रकार राज्य में कोरोना के काल का ग्रास बन चुके हैं।  नैनीताल के प्रशांत दीक्षित और उधम सिंह नगर के भी एक पत्रकार कोरोना से जीवन जंग हार चुके हैं। इन कठिन परिस्थितियों में भी सूचनाओं के प्रचार, प्रसार , संकलन में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने में पत्रकार कभी पीछे नहीं हटते , जिस कारण मीडियाकर्मी भी कोरोना से संक्रमित हुए जा रहे है। उत्तराखंड सरकार ने इसी को देखते हुए अघोषित फ्रंट लाइन वर्करस को भी संक्रमित हो जाने की स्थिति में जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग से समन्वय बनाते हुए कोविड -19 से संक्रमित हुए मीडियकर्मियों को आवश्यक चिकित्सकीय सहायता उपलब्ध कराने हेतु जिला सूचना अधिकारी को उनके सम्बंधित जनपद हेतु नोडल अधिकारी नामित किया गया है। मुख्यालय स्तर पर कार्य करने वाले पत्रकारों के लिए अपर निदेशक सूचना डॉ अनिल चंदोला को नामित किया गया है। 

 ​​​​​​​

Share this story