सतपाल महाराज ने किया जौली ग्रांट एयरपोर्ट परिसर का निरीक्षण

uk

Utkarshexpress.com देहरादून - प्रदेश के पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री श्री सतपाल महाराज ने बुधवार को जौली ग्रांट एयरपोर्ट के विस्तारीकरण के तहत बनी न्यू टर्मिनल बिल्डिंग परिसर का पर्यटन की दृष्टि से निरीक्षण किया।जौली ग्रांट एयरपोर्ट के विस्तारीकरण के तहत बनी न्यू टर्मिनल बिल्डिंग परिसर का पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने बुधवार को औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने निर्माण के दौरान होने वाली अनेक खामियों की ओर ध्यान आकर्षित करवाते हुए एयरपोर्ट अथॉरिटी अधिकारियों को उन्हें दुरुस्त करने के भी निर्देश दिए। ज्ञात हो कि उक्त न्यू टर्मिनल बिल्डिंग का 7 अक्टूबर को लोकार्पण होना है।महाराज ने जौली ग्रांट एयरपोर्ट की न्यू टर्मिनल बिल्डिंग एवं उसके परिसर के निरीक्षण के दौरान साथ आए पर्यटन अधिकारियों को पर्यटन की दृष्टि से भी उसे और अधिक अपनी संस्कृति के अनुरूप संवारने करने को कहा है। उन्होंने कहा कि न्यू न्यू टर्मिनल बिल्डिंग परिसर में वैदिक मंत्रों के साथ-साथ गंगा, यमुना और सरयू जैसी पवित्र नदियों की स्तुति से संबंधित चित्रण किया जाना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने अधिकारियों से कहा कि परिसर में गायत्री मंत्र, महामृत्युंजय मंत्र सहित ऋग्वेद एवं यजुर्वेद की रीचाओं को भी अंकित करना चाहिए ताकि विश्व से आने वाला पर्यटक इस देवभूमि से एक आध्यात्मिक संदेश लेकर जाए। श्री महाराज ने कहा कि न्यू टर्मिनल बिल्डिंग परिसर में बाहर से आने वाले यात्रियों के लिए गढ़वाली एवं अंग्रेजी भाषाओं में स्वागत संदेश भी अंकित होना चाहिए। उन्होंने पर्यटन अधिकारियों को निर्देश दिए कि न्यू बिल्डिंग परिसर में ट्रैकिंग, पैराग्लाइडिंग एवं राफ्टिंग आदि के काउंटर लगने चाहिए।पर्यटन मंत्री ने एयरपोर्ट की नई बिल्डिंग में चारधाम चित्रण में हुई त्रुटि के विषय में भी अधिकारियों को बताया। बच्चों के लिए शौचालय की अतिरिक्त व्यवस्था को लेकर भी उन्होंने एयरपोर्ट अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।इस मौके पर सचिव पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन श्री दिलीप जावलकर, एसडीएम डोईवाला मुक्ता मिश्रा, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमलेश मेहता, एयरपोर्ट डायरेक्टर प्रभाकर मिश्रा, संयुक्त निदेशक पर्यटन विवेक चौहान सहित संस्कृति विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।

Share this story