हनुमान मंदिर के समीप 99.33 लाख की लागत से घाट निर्माण कार्य का भूमि पूजन कर किया शिलान्यास

uk

Utkarshexpress.com बागेश्वर-  जनपद बागेश्वर को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने व नगर के सौन्दर्यकरण के लिए मुख्यमंत्री घोषणा के तहत नगर पालिका क्षेत्रान्तर्गत अग्निकुण्ड में सरयू नदी के दायें पाश्र्व पर हनुमान मंदिर के समीप 99.33 लाख की लागत से घाट निर्माण कार्य का अध्यक्ष जिला पंचायत बंसती देव, क्षेत्रीय विधायक चन्दन राम दास, अध्यक्ष नगर पालिका सुरेश खेतवाल, जिलाधिकारी विनीत कुमार ने भूमि पूजन कर योजना का शिलान्यास किया।

इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक चन्दन राम दास ने कहा कि जनपद में अवस्थित सूरजकुण्ड एवं अग्निकुण्ड पौराणिक दृष्टि से महत्वपूर्ण धार्मिक स्थान है। उन्होंने कहा कि अग्निकुण्ड में काफी लंबे समय से क्षेत्रवासियों द्वारा घाट निर्माण कार्य की मांग की जा रही थी, जो आज पूरी हुइ। जिससे कि यहां पर एक करोड की लागत घाट का निर्माण किया जायेगा, जिससे जनपद के सौन्दर्यकरण के साथ-साथ पर्यटन को भी बढावा मिलेगा, इसके लिए उन्होने मा0 मुख्यमंत्री का आभार प्रकट करते हुए कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा क्षेत्र के लोंगो की मांग के अनुरूप घाट निर्माण के लिए धनराशि की स्वीकृति प्रदान की है। उन्होंने कहा कि घाट निर्माण के साथ-साथ इस कार्य में चार चेन्जिंग रूम भी बनायें जायेंगे। उन्होंने कहा कि घाट निर्माण से यहां के धार्मिक अनुष्ठान करने में क्षेत्रवासियों को सुविधा उपलब्ध होगी तथा पर्यटन को भी बढावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस योजना में शौचालय निर्माण का प्राविधान नहीं किया गया है इसके लिए उन्होंने महिलाओं एवं पुरूषों के लिए शौचालय निर्माण का प्राविधान करने को कहा। उन्होने कहा कि जनपपद के युवा जिलाधिकारी द्वारा जनपद के सौन्दर्यकरण के लिए कर्इ महत्वपूर्ण योजनायें तैयार की गयी हैं, जिसमें मल्टी पार्किंग एवं शापिंग मॉल के निर्माण की कार्ययोजना बनायी गयी है। उन्होंने कहा कि उक्त योजनायें स्वीकृति होने से जनपद में चौमुखी विकास होगा, जिसके लिए एक महत्वपूर्ण कार्ययोजना तैयार की गयी है। उन्होंने कहा कि जनपद को पर्यटन के क्षेत्र में विकसित करने के लिए 52 करोंड का परपोजल तैयार किया गया है, जिसे जल्द ही स्वीकृति कराने का प्रयास किया जा रहा है। इस अवसर पर जिलाधिकारी विनीत कुमार ने कहा कि अग्निकुण्ड घाट निर्माण हेतु 99.33 लाख की धनराशि मा0 मुख्यमंत्री की घोषणा में स्वीकृति की गयी है, जिसके निर्माण से नगर के सौन्दर्यकरण के साथ-साथ पर्यटन को भी बढावा मिलेगा, जिसके लिए इस योजना का भूमि भूजन कर शिलान्यास किया गया है। उन्होने कहा कि इस योजना के तहत 65 मीटर लंबे घाट का निर्माण कार्य किया जायेगा। जिसमें घाट की चौडार्इ 10.60 मीटर तथा घाट में स्टैप्स की संख्या 22 है, राइजर 0.15 मीटर, टे्रड 0.30 मीटर, चेन्जिंग रूम 04, लैण्डिंग 02 तथा टो वाल की गहराई 1.50 मीटर है। उन्होने कहा कि जनपद के सौन्दर्यकरण के लिए कई कार्ययोजना तैयार की गयी है, तथा स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत जनपद बागेश्वर को 360 की रैकिंग प्राप्त हुई हैं, जिसके तहत नगर के स्वच्छ एवं सुन्दर बनायें जाने के लिए डोर-टू-डोर कूडा उठान का कार्य किया जा रहा है, इसके साथ ही सौन्दर्यकरण के कार्य भी किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा भी योजनायें तैयार की गयी हैं, जिसके तहत प्राधिकरण के माध्यम से धनराशि स्वीकृति कराने के लिए आयुक्त महोदय को प्रस्ताव प्रेषित किया गया है, जिसके माध्यम हवामहल का कार्य प्रस्तावित किया गया है। इसके साथ ही नमामि गंगे योजना का गठन किया गया है, जिसके तहत 19 करोड़ का प्रस्ताव प्रेषित किया गया है। जिससे घाटो को विकसित करने के साथ ही इनका सौन्दर्यकरण किया जान प्रस्तावित है। उन्होंने कार्यदायी संस्था सिचांर्इ विभाग के अधि0अभि0 को निर्देश दियें कि योजना के तहत जो भी कार्य किये जाने है उन कार्यो को समयबद्धता एवं गुणवत्ता के साथ-साथ त्वरित गति से पूर्ण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने क्षेत्रवासियों से भी अपील की कि नगर की साफ-सफार्इ एवं स्वच्छता का दायित्व हम सभी का है इसलिए सभी से अपेक्षा है कि वे अपने घरों के साथ-साथ अपने आस-पास के वातावरण को भी स्वच्छ रखें तथा घरों का कूडा इत्यादि को नदी में न फेंके। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डीडी पंत, अधि0अभि0 सिंचार्इ एके जॉन, सभासद नीमा दफौटी, प्रेम हरडिया, मोहन उप्रेती, रमेश तिवारी, प्रताप गढिया, शोभा सहित संबंधित अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन खडक सिंह टगडिया द्वारा किया गया।
 

Share this story