महाकुंभ में तीन महीने पहले बना दो करोड़ का घाट धराशायी

uttarakhand

Utkarshexpress.com हरिद्वार । महाकुंभ 2021 को समाप्त हुए अभी 3 महीने भी नहीं हुए हैं कि गंगा तट पर बने घाटों की हकीकत सामने आने लगी है। सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज के आश्रम के सामने बना भगत सिंह घाट ढह गया है। यह घाट करीब 2 करोड़ रुपए की लागत से तैयार किया गया था, जो भारी बारिश में धराशायी हो गया। इस घाट का निर्माण 2 करोड़ की लागत से सिंचाई विभाग की ओर से किया गया था। यह घाट इसलिए भी अहम है क्योंकि, यह घाट सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज के आश्रम के ठीक सामने बना है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि सिंचाई विभाग की ओर से महाकुंभ में किस तरह से कार्य किए गए हैं, जो 3 महीने भी नहीं टिक पा रहे हैं। वहीं, मामले में सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता डीके सिंह से बात की गई तो वो अपनी जिम्मेदारी से बचते हुए नजर आए। उन्होंने कहा कि बारिश के कारण घाट के किनारे पानी भरने से सड़क का हिस्सा गिरा है। जिसे ठीक कराने के आदेश दे दिए गए हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि इस घाट का निर्माण हरिद्वार महाकुंभ में 2 करोड़ की लागत से हुआ है। जो हिस्सा गिरा है, उसकी लंबाई करीब 5 मीटर है।

Share this story