चमोली जिले के दूरस्थ इराणी के गांव के युवाओं ने पेश की नजीर

uttarakhand

utkarshexpress.com, Chamoli , चमोली जिले के ईराणी गांव का लकड़ी का पैदल 18-19 जून की अतिवृष्टि और गदेरे के उफान से बह गया था । गांव की रोज मर्रे की जिन्दगी और पर्यटन की दृष्टि से यह पुल लाइफ सेतु माना जाता है । ईराणी गांव के युवाओं ने सरकार के आगे गुहार लगाने के बजाय स्वयं ही मिल जुल कर श्रमदान के जरिये गदेरे में बहे पुल को फिर तैय्यार कर दिया । इराणी के हिमांशु , सोहन ,घीमन लक्ष्मण , रोहित और चन्द्र शेखर बताते हैं कि सबने मिल कर हाथ बढ़ाये और बना दिया नया पुल।

Share this story