गणनायक शत् -शत् प्रणाम - कालिका प्रसाद 

pic

प्रथम पूजन होती गणपति  की,
तुम्हारे आने से कल्याण होता है।
तुम ही इस जीवन के दुख हरते हो,
हे गणनायक शत् - शत् प्रणाम ।

हे महादेव  गौरी   पुत्र   गणपति,
हम भक्ति भाव से वन्दना करते।
सबके हृदय  तुम  बस   जाओ,
हे गणनायक शत् - शत्  प्रणाम।

हे   मंगलमूर्ति    गजानना,
रिद्धि सिद्धि सदा साथ तुम्हारे।
शुभ   लाभ   सुत   परमानंद,
हे गणनायक शत् - शत् प्रणाम।

बुद्धि   विधाता    मंगलमूर्ति,
निश दिन ध्यान  तुम्हारा  करते।
लम्बोदर तुम सबके दुख हरते,
हे गणनायक  शत् -शत् प्रणाम।

हे विघ्नहर्ता पार्वती  के  लाल,
तुम्हारे आने से खुशियां आती।
इस जीवन के सब दुख हरदो,
हे गणनायक  शत्- शत्  प्रणाम।

लम्बी   तुम्हारी    सूंड़   है, 
सुन्दर है  तुम्हारे  दोनों  कान।
विनती करते हैं सब गणपति से,
हमारे घर पधारों गणपति भगवान।
- कालिका प्रसाद सेमवाल
मानस सदन अपर बाजार, रुद्रप्रयाग उत्तराखंड
 

Share this story