हे कैलाशपति प्रणाम - कालिका प्रसाद 

pic

हे भोलेबाबा तुम सबके रक्षक हो,
सिर पर गंगा धारण किये हो,
पल भर में ही प्रसन्न हो जाते हो,
हे कैलाशपति तुम्हें प्रणाम।

गले में  सर्पों  की माला है,
जटायें तुम्हारी विखरी हुई है,
चन्द्रमा मस्तक पर शोभित है,
हे कैलाशपति तुम्हें प्रणाम।

बाघाम्बर तन पर धारण किये हो,
त्रिशूल डमरु हाथ में लिये हो,
नंदी पर सवार हो भोलेनाथ जी,
हे कैलाशपति तुम्हें प्रणाम।

मृत्युंजय हे केदारनाथ वासी, 
देवादिदेव  हे महाकाल प्रभु,
सोमनाथ हे ॐकार करुणानिधान,
हे कैलाशपति तुम्हें प्रणाम।

आशुतोष हो दयानिधे भोलेनाथ,
तुम दुनिया के रखवारे विश्वनाथ,
नीलकंठ     हे       त्रिपुरारी
हे कैलाशपति तुम्हें प्रणाम।
- कालिका प्रसाद सेमवाल
मानस सदन अपर बाजार
रुद्रप्रयाग  उत्तराखंड
 

Share this story