हास्य- व्यंग  - जसवीर सिंह हलधर 

pic

ज्यों ही चुनाव जीत नेता जी का दल सत्ता में आया ।
मांगेराम ने भी नई सरकार में मंत्री का पद पाया ।।

मांगेराम की तो मानो बांछें ही खिल गयी ।
भवन,सड़क, मंत्रालय कुर्सी जो मिल गयी ।।

मांगेराम ने भी मंत्रालय अपने तरीके से चलाया।
पहले वाले सभी मंत्रियों से ज्यादा माल बनाया ।।

कुछ समय बाद मंत्री जी का पेट फूलने लगा।
मांगेराम पेट दर्द का झूला झूलने लगा ।।

मांगे राम इस बीमारी की नाव को खेने लगा ।
फूला पेट अब रोज उफान सा लेने लगा ।।

परेशानी देख कर मांगेराम की बीबी घबराई ।
मंत्री जी को उपचार हेतु डॉक्टर के पास लाई।।

मांगेराम की जांच बारीकी से करायी ।
मंत्री जी के पेट में जटिल बीमारी पायी।।

डॉक्टर बोला बहन जी बीमारी है कंपाउंड ।
करना पड़ेगा मंत्री जी के पेट का अल्ट्रासाउंड।।

मांगेराम का तुरंत अल्ट्रासाउंड कराया ।
मंत्री जी के पेट में अजीब सा पिंड पाया ।।

पिंड की जांच बारीकी से करायी गयी ।
पिंड में सीमेंट ,सरिया,लोहे की मात्रा पायी गयी ।।

डॉक्टर बोला बहन जी समस्या है गंभीर ।
सीमेंट सरिया लोहे में कैद है मंत्री जी का शरीर।।

बीबी बोली डॉक्टर साहब मेरे पति को बचा लो।
बेसक इनकी काली कमाई आप ही पचा लो ।।

मेरे पति लोभ लालच में इस कदर भटक गए हैं।
क्या बताऊँ ये कई भवन व सड़कें सटक गए हैं ।।

डॉ, साहब इनका ऑपरेशन करो ,  समय न निकल जाय।
मौसम गर्म आने वाला है , पेट का चारकोल न पिघल जाय ।।

इनके लालच का मैंने बहुत मूल्य चुकाया है ।
उपहार मिली कार दुर्घटना में बेटा गवाया है ।।
- जसवीर सिंह हलधर , देहरादून
 

Share this story