नव संकल्प - कर्नल प्रवीण त्रिपाठी

pic

द्वंद्व सारे मिटायें सभी मूल से।
जो चुभें राष्ट्र तन में सदा शूल से
हिंद में प्रेम की मात्र धारा बहे,
भेद कोई करें मत कभी भूल से।

पूर्ण शिक्षा सभी को मिले देश में।
पा सकें लोग निज मंजिले देश में।
देश उन्नति करे भाव सब यह रखें,
चल पड़ें नव प्रगति सिलसिले देश में।
- कर्नल प्रवीण त्रिपाठी, नोएडा, उत्तर प्रदेश 
 

Share this story