उत्तराखंड काव्य महोत्सव में काव्य पाठ करेंगे देश भर के 300 कलमकार - विवेक बादल बाजपुरी

pic

utkarshexpress.com पिण्डवाड़ा (राजस्थान) - बुलंदी साहित्यिक सेवा समिति के मीडिया प्रभारी गुरुदीन वर्मा ने बताया कि बुलन्दी साहित्यिक संस्था द्वारा आयोजित दो दिवसीय संस्था के वार्षिक कार्यक्रम उत्तराखंड काव्य महोत्सव (काव्य का महाकुंभ) में रिंकू निगम (दिल्ली), नीलेश कुमार (पीलीभीत), नवीन आर्या, (आगरा), हारून राशिद (बनारस), डॉ रानी गुप्ता (गुजरात), मातृका बहुगुणा (देहरादून), सुरभि खनेडा़ (चमोली), अक्षिता रावत (चमोली), अनामिका चौकसे (नरसिंहपुर), ईशु मैठाणी (रूद्रप्रयाग) , शोभा" समीक्षा" (कोटाबाग) तान्या त्रिपाठी (कानपुर), ममता नेगी (चमोली), नेहा त्रिपाठी (बेतालघाट), कशिश चौहान (मुरादाबाद), सत्यार्थ दीक्षित (जलालाबाद), रविकांत यादव (ग्वालियर) , ऋषभ कौरव (नरसिंहपुर), अमित वर्मा (बाजपुर),पवन मेहरोत्रा ( रूद्रपुर), विकास बैरागी (नरसिंहपुर) समेत विभिन्न राज्यों के कलमकार अपना काव्य पाठ करेंगे।                                                                 मीडिया प्रभारी वर्मा ने कहा कि यह कार्यक्रम 19 नवंबर को रुद्रपुर उत्तराखंड में आयोजित होगा जिसमें देश भर के 300 से ज्यादा साहित्यकारों को आमंत्रित किया गया है ।उक्त काव्य के महाकुंभ में सभी कलाकारों को बुलंदी संस्था के संस्थापक विवेक बादल बाजपुरी एंव संरक्षक पंकज शर्मा द्वारा आमन्त्रित किया गया है l 
मीडिया प्रभारी वर्मा के अनुसार संस्था के संस्थापक बाजपुरी ने बताया कि पिछले वर्ष  बुलंदी संस्था ने हिंदी के प्रचार -प्रसार हेतु  207 घण्टे का अनवरत कार्यक्रम आयोजित करवाया था, जिसे इंडिया वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज भी किया गया है और इसी वर्ष 21 अगस्त से 5 सिंतम्बर तक अनवरत 370 घण्टे का अंतर्राष्ट्रीय वर्च्युअल कवि सम्मेलन करवाया है जिसमें दुनिया भर के 45 देशों के हिंदी कवियो ने सहभागिता की और  जिसे विश्व रिकॉर्ड के रूप मे इंडिया वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया जाएगा l बुलंदी संस्था उत्तराखंड के बाजपुर से संचालित होती है जो कि साहित्य जगत में वैश्विक स्तर पर प्रसिद्ध संस्थाओ में से एक है जो कि हिंदी भाषा के उत्थान एंव साहित्यकारों के सम्मान हेतु कार्य कर रही है l

Share this story