महाकाल लोक देखने उमड रही भीड

national

Utkarshexpress.com उज्जैन। श्री महाकाल लोक देखने आ रहे लाखो श्रद्धालु के कारण रविवार को अपरांह एक बार फिर बड़ा जाम लग गया। यह जाम इंदौर- उज्जैन फोरलेन पर हरिफाटक ब्रिज से तपोभूमि तक लगा। करीब 5 किलोमीटर तक रोड के दोनो साइड मैं जाम रहा। बमुश्किल 3 घंटे की मशक्कत के उपरांत वाहन चल सके। इसके पीछे दो वजह सामने आ रही है। जाम के वाहनों में महिलाए बच्चे कारों,जीप बसों में फंस कर रह गए थे। 11 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महाकाल लोक के प्रथम चरण का लोकार्पण किया था। उसके बाद से इसे देखने आने वालों की संख्या में बूम आया है। प्रतिदिन हजारों की संख्या में कार एवं अन्य वाहनों से श्रद्धालू उज्जैन महाकाल लोक देखने पहुंच रहे हैं। धनतेरस से यात्रियों के आगमन का यह बूम रविवार को भी रहा। रविवार को दोपहर में फोरलेन की इंदौर –उज्जैन लेन को मेंटेनेस के लिए मध्यप्रदेश रोड़ डेवलपमेंट कार्पोरेशन ने तपोभूमि के आगे से त्रिवेणी के बीच में रोक दिया था। इसके कारण फोरलेन की एक लेन ही चालू थी। एक लेन से ही इंदौर-उज्जैन के वाहनों का आवागमन जारी था। दोपहर में 2 बजे बाद धीरे –धीरे मार्ग पर जाम की स्थिति बनी और कुछ ही देर में यह जाम हरिफाटक से लेकर तपोभूमि तक लग गया। करीब चार किलोमीटर से अधिक मार्ग पर हजारों वाहन फंस गए। महाकाल लोक आने वाले वाहनों की संख्या इतनी अधिक हो रही है कि इस क्षेत्र की सभी पार्किंग फूल चल रही है। इस कारण से भी जाम बढता ही गया।
ट्राफिक डीएसपी सुरेन्द्र पाल सिंह राठौड़ के अनुसार हमारे पास उपलब्ध पार्किंग यंत्र महल के पास,कर्कराजेश्वर, महाकाल लोक पार्किंग,कार्तिक मेला प्रांगण, के साथ ही अन्य पर कुल 3 हजार वाहनों की ही पार्किंग क्षमता है। इसके एवज में महाकाल लोक एवं भगवान श्री महाकालेश्वर दर्शन के लिए शहर में आने वाले वाहनों की संख्या धनतेरस से ही दो गूना से अधिक हो रही है। रविवार को वाहनों की संख्या तीन गूना अधिक हो गई। इसके साथ ही इंदौर – उज्जैन फोरलेन की एक लेन को मेंटेनेंस करने के लिए बगैर सूचना के ही बंद कर दिया गया था यह भी एक कारण रहा जाम लगने का।मध्यप्रदेश रोड़ डेवलपमेंट कार्पोरेशन के इंदौर डीएम राकेश जैन के अनुसार रोड़ मेंटेनेंस के लिए काफी पहले ही ठेकेदार को आदेशित किया गया है।इसकी सूचना पूर्व में ट्रेफिक पुलिस को दी जा चुकी थी।आदेश के तारतम्य में ठेकेदार काम कर रहा है।मेंटेनेस के कारण वाहनों के आवागमन में अगर समस्या आई है तो आगे से अवकाश दिवसों में मेंटेनेस का काम नहीं करते हुए अन्य दिवस में करेंगे। इसके साथ ही संभव हुआ तो काम रात में करवाया जाएगा।

Share this story