कुकिन्ग कन्वर्जन एवं कुक कम हेल्पर मानदेय राशि के अभाव में पोषाहार की बदहाल स्थिति - धर्मेन्द्र गहलोत

pic

utkarshexpress.com सिरोही (राजस्थान) -- सिरोही जिले के सभी राजकीय विद्यालयों में कुकिन्ग कन्वर्जन राशि एवं कुक कम हेल्पर मानदेय पिछले 7 माह से बकाया होने से विद्यार्थियों को दोपहर के भोजन की गुणवत्ता प्रतिकूल प्रभाव एवं स्कूल प्रशासन को भारी परेशानी को लेकर राजस्थान शिक्षक संघ (प्रगतिशील) के मुख्य महामंत्री धर्मेन्द्र गहलोत ने जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक शिक्षा सिरोही भंवरसिंह से दुरभाष पर नाराजगी जताकर बकाया राशि अविलम्ब जारी करने की मांग की।
संगठन के मीडिया प्रभारी गुरुदीन वर्मा के अनुसार संघ (प्रगतिशील) के प्रदेश मुख्य महामंत्री धर्मेन्द्र गहलोत ने जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक शिक्षा सिरोही भंवरसिंह को बताया हैं कि सिरोही जिले के सभी राजकीय विद्यालयों में कुकिन्ग कन्वर्जन राशि एवं कुक कम हेल्पर मानदेय पिछले 7 माह से बकाया हैं। जिस पर 30 जून को जिला निष्पादक समिति सिरोही की बैठक में जिला कलेक्टर सिरोही डॉ.भंवरलाल के समक्ष यह मुद्दा उठाने पर जिला कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को तत्काल व्यवस्था सुधारने के निर्देश के दो सप्ताह बीत जाने के बाद भी विभाग द्वारा कोई सुंध नहीं लेने से विद्यार्थियों को दोपहर के भोजन की गुणवत्ता पर जबरदस्त प्रतिकूल प्रभाव पड रहा हैं साथ ही स्कूल प्रशासन कुक कम हेल्परो के मानदेय को लेकर भारी परेशानी का सामना करना पड रहा हैं। लेकिन विभाग आंख मुंद कर बैठा हैं। 
गहलोत ने स्पष्ट किया हैं कि राज्य सरकार द्वारा मिड डे मिल के संदर्भ में कुकिन्ग कन्वर्जन राशि एवं कुक कम हेल्पर राशि को तीन माह अग्रिम देने का प्रावधान किया हैं। लेकिन विभाग अग्रिम राशि देने की बजाय 7-7 माह से विलम्ब से राशि जारी करने से मिड डे मील की गुणवत्ता जबरदस्त रूप से प्रभावित होना चाहिए। संगठन ने मिड डे मील आयुक्त को भी ज्ञापन भेजकर  एमडीएम की बदहाल स्थिति से अवगत करवाया है।

Share this story