आभा साहित्य संघ की पूर्णिका गोष्ठी संपन्न

pic

utkarshexpress.com जबलपुर-  आभा साहित्य संघ  के तत्वावधान में पूर्णिका पटल की मासिक ऑनलाइन पूर्णिका काव्य गोष्ठी विगत दिवस सानंद संपन्न हुई।
अध्यक्षता बुंदेली मर्मज्ञ डॉ कृष्ण कुमार नेमा निर्झर सीहोर से और मुख्य अतिथि  विजय बागरी विजय वहीं विशिष्ट अतिथि एन डी निंबावत के साथ मुख्य वक्ता आदरणीय राजेश पाठक प्रवीण  रहे। आदरणीया अर्चना द्धिवेदी गुदालू ने सस्वर सरस्वती पूजा वंदना से पूर्णिका गोष्ठी की अभूतपूर्व शुरुआत की, स्वागत उद्बोधन शाहिद शयानवी और संस्था गत परिचय उद्बोधन आदरणीय अंशुल विश्वंभर मिश्र , कदम जबलपुरी ने किया। 
गोष्ठी का अभिनव संचालन द्वय श्रीमती कविता राय श्रीमती रश्मि पाण्डेय ने बखूबी निभाया।
गरिमामयी पूर्णिका गौष्ठी में राजेन्द्र जैन रतन, कदम जबलपुरी, आदिल अहमद मेरठ,  गोवर्धन सिंह फौदार मारीसस, श्रीमती कविता राय, श्रीमती रश्मि पांडे, कृष्ण मुरारी लाल, मानव राम नगर एटा उप्र श्रीमती राजकुमारी रेकवार रा  विनोद कश्यप चंडीगढ़, डॉ कृष्ण कुमार, नेमा निर्झर,  सीहोर रमेश श्रीवास्तव  चातक, कविता नेमा काव्या  , रजनी कटारे  ,रेणू श्रीवास्तव  शहडोल ,  कीरत सिंह यादव  भिण्ड,  जगदीश तपिश, डॉ आशा श्रीवास्तव , श्रीमती निर्मला डोंगरे ,  राम वल्लभ गुप्ता , नीलम यादव एहसास,  शाहिद शयानवी, शिव अलग नैनपुर, संतोष नेमा संतोष,  अमर सिंह वर्मा ,  मदन श्रीवास्तव,  कुंज बिहारी यादव नरसिंह पुर,  इशाक अली  सुन्दर,  एन डी निंबावत,  अशोक त्रिपाठी शहडोल,  अशोक नरसिंहपुर और चितरे  पूर्णिकाकार विजय बागरी विजय कटनी ने पूर्णिका पाठ कर भाव विभोर कर दिया।।
पूर्णिका गोष्ठी का आभार धन्यवाद नये साल की अगुवाई में श्रीमती कविता नेमा काव्या द्वारा किया गया। वहीं पूर्णिका के जनक  एडवोकेट डॉ सलपनाथ यादव प्रेम सभी पूर्णिकाकारो का दिल की अंतरस गहराई से सादर अभिवादन अभिनन्दन धन्यवाद प्रेषित किया है। कवि संगम त्रिपाठी ने सफल आयोजन की बधाई दी।

Share this story