एस.बी.एम. जैन पब्लिक स्कूल नालागढ़ में प्रकाश पर्व पर शब्द गायन प्रतियोगिता सम्पन्न

pic

utkarshexpress.com नालागढ (हि प्र)- एस.बी.एम .जैन पब्लिक स्कूल नालागढ़ में प्रकाश पर्व के अवसर पर शब्द गायन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें स्कूल की छात्राओं ने शब्दों का गायन कर सभी को भाव-विभोर कर दिया। श्री गुरु नानक देव के प्रकाश उत्सव के अवसर पर शब्द गायन प्रतियोगिता में हिमानी , गुरसिमर , दीक्षा , तनीषा, सोनाली , जसलीन कौर , जसप्रीत कौर, अमृत कौर, वैशाली खुशबू , मिष्टी, शिवानी , नमरिता , दिया , निहारिका, भूमिका , जयदीप ,हर्षप्रीत , नमनजोत, प्रणानित, जय शर्मा , अमृत ने शब्द गायन और शिवन्या वर्मा, शिवांशी, गीतिका , मन्नत, रितिका सैनी ने चित्र प्रतियोगिता में श्री गुरु नानक देव जी के चित्रों को प्रदर्शित किया । शब्दों में " आयी बाबा नानका जिस घर" "एक ओंकार सतनाम धन्य गुरु बाबा जी"" उच्चा दर बाबे नानक दा आदि शब्दों का गायन किया। इस अवसर पर प्रधानाचार्य प्रीति शर्मा असीम ने बताया कि श्री गुरु नानक देव जी सिखों के प्रथम गुरु थे. इस वर्ष गुरु नानक देव जी की 553 वीं जयंती मनाई जा रही है। गुरु नानक देव का जन्मदिन गुरु नानक जयंती के रूप में मनाया जाता है। गुरु नानक जयंती कार्तिक के महीने में पूर्णिमा के दिन कार्तिक पूर्णिमा के नाम से मनाया जाता है। गुरु नानक सिख धर्म के संस्थापक थे। वह पहले सिख गुरु थे। गुरु नानक देव जी का जन्म 1469 को पाकिस्तान के वर्तमान शेखपुरा जिले में राय-भोई-दी तलवंडी में हुआ था, जिसे अब ननकाना साहिब के नाम से जाना जाता है। गुरु नानक जयंती पर सिख लोग नए कपड़े पहनते हैं और गुरुद्वारों में जाते हैं। गुरु नानक जयंती की सुबह गुरुद्वारे में प्रभात फेरी के साथ शुरू होती है। गुरुद्वारों में प्रार्थना करते हैं। इस अवसर पर अध्यक्ष रमेश जैन सेक्रेटरी कुलदीप जैन ने प्रकाश पर्व के अवसर पर सभी को शुभकामनाएं दी।

Share this story