डॉ. दुर्गा प्रसाद श्रीवास्तव का लगभग अड़तालिस संस्थाओं के लोगों ने किया नागरिक अभिनंदन

up

Utkarshexpress.comबनारस- वाराणसी महानगर के अस्सी में प्रेरणा हिन्दी प्रचार सभा के प्रदेश संयोजक कवि इंद्रजीत तिवारी निर्भीक एवं महिला शाखा की प्रदेश संयोजिका मणिबेन द्विवेदी के प्रमुख संयोजन/ संचालन में विगत वर्षों की तरह इस वर्ष भी मुंशी प्रेमचंद स्मृति काव्य संगम एवं सम्मान समारोह का आयोजन प्रयागराज इलाहाबाद के पूर्व जिला जज एवं अंतरराष्ट्रीय ग़ज़लकार डॉ. चंद्रभाल सुकुमार जी प्रमुख अतिथि, प्रख्यात समाजसेवी श्रीप्रकाश कुमार श्रीवास्तव गणेश एवं डॉ. सुबाष चंद्र विशिष्ट अतिथि के गरिमामयी उपस्थिति में श्री काशी विश्वनाथ मंदिर काशी के महंत डॉ.कुलपति तिवारी के प्रमुख संरक्षण में, प्रख्यात समाजवादी चिंतक विजय नारायण जी के द्वारा श्रीगणेश को माल्यार्पण के उपरांत मिशन जामवंत से हनुमान तक के राष्ट्रीय संयोजक सूर्य कुमार सिंह एवं उत्तर प्रदेश पत्रकार परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश मिश्रा के स्वागत संरक्षण में, पूर्वांचल राज्य जनमोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव पवन कुमार सिंह एडवोकेट के स्वागत संयोजन में, मुंशी प्रेमचंद के वंशज डॉ. दुर्गा प्रसाद श्रीवास्तव का नागरिक अभिनंदन किया गया। जिसमें भारत वर्ष की लगभग अड़तालिस संस्थाओं द्वारा द्वारा अभिनन्दन के उपरांत मानव समाज के 108 लोगों को मुंशी प्रेमचंद स्मृति सम्मान मंचीय एवं ऑनलाइन मुख्य अतिथि डॉ. चंद्रभाल सुकुमार द्वारा दिया गया। उक्त अवसर पर मुख्य अतिथि ने कहा कि मुंशी प्रेमचंद जी, भारतेन्दु हरिश्चन्द्र जी सहित अनेकों महापुरुषों द्वारा बताए गए रास्तों पर चलकर ही, हिन्दी भाषियों और और हिन्दुस्तान की भलाई संभव है।
उक्त अवसर पर कवि सम्मेलन का आयोजन स्वर्गीय अंतरराष्ट्रीय कवि चंद्रशेखर मिश्र के सुपुत्र डॉ.जयप्रकाश मिश्र के अध्यक्षता में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें डॉ.नागेश शांडिल्य, कवि रामनरेश नरेश, ओमप्रकाश श्रीवास्तव भुलक्कड़ बनारसी कवयित्री पूनम श्रीवास्तव - मिर्जापुर, डॉ. मधुबाला सिन्हा - मोतिहारी, बिहार, झरना मुखर्जी-काशी, अरुण दिव्यांश -सारण, छपरा, बिहार, मुनीन्द्र पाण्डेय मुन्ना, इंद्रजीत तिवारी निर्भीक - गाजीपुर, नरेंद्र कुमार -भोजपुर,
मणिबेन द्विवेदी -सिवान-बिहार, सिद्धनाथ शर्मा सिद्ध, चिंतित बनारसी, जयप्रकाश धानापुरी,
शायरा शबनम,शायर इमरान बनारसी, यशवंत यादव - गाजीपुर, गौरांग मिश्रा - वाराणसी,विमल बिहारी,मनोज मिश्र, डॉ. दशरथ पवार, शीतल विजय गोंदिया, अमृता अग्रवाल-नेपाल,सरोज सिंह -दिल्ली, सरिता चौहान -बदांयू,डॉ.मीतू सिन्हा -धनबाद, संतोषी दीक्षित -कानपुर, डॉ. अन्नपूर्णा श्रीवास्तव-पटना, डॉ. उषा किरण -चंपारण, सरोज तिवारी-पटना,विनोद कुमार हसौड़ा - दरभंगा,हरियाणा गौरव -सुनील शर्मा , अमृत लाल अमृत लाल अमृत - रामनगर, सुरेश अकेला -चंदौली, चंद्र भूषण मिश्र कौशिक -चंदौली, अनामिका अर्श, सुनीता जौहरी, सुनीता चतुर्वेदी- लखनऊ,सहित अनेकों रचनाकारों ने मंचीय एवं आनलाईन सहभागिता निभाया।
  विशेष आमंत्रित अतिथियों में शशांक शेखर त्रिपाठी एडवोकेट,राजन सिंह, प्रवीण सिंह, राकेश चंद्र पाठक महाकाल, श्रीराम द्विवेदी एडवोकेट, मुकेश पाण्डेय - पत्रकार, राजीव कुमार शुक्ल एडवोकेट, संजय कुमार- पत्रकार, रोहित पाण्डेय, इंद्र कुमार श्रीवास्तव रवि एडवोकेट, श्रीराम द्विवेदी एडवोकेट सहित अनेकों विशिष्ट लोगों ने भी विचार व्यक्त किया। आगंतुक जनों का स्वागत कालीशंकर उपाध्याय एवं राणा शेरू सिंह ने किया। धन्यवाद आभार राजेश मिश्रा एवं नवनिर्माण सेवा ट्रस्ट की अध्यक्ष -नूतन सिंह ने किया। इस ऐतिहासिक आयोजन पर प्रेरणा हिंदी प्रचार सभा के संस्थापक कवि संगम त्रिपाठी ने बधाई दी और कहा कि श्री  इंद्रजीत तिवारी निर्भिक के साहित्य अनुष्ठान नव ऊर्जा प्रदान करेंगे।

Share this story