कहानिका हिंदी पत्रिका द्वारा अयोध्या में कवि सम्मेलन का आयोजन 

pic

utkarshexpress.comअयोध्या- प्रेस क्लब सिविल लाइन अयोध्या में कहानिका हिंदी पत्रिका द्वारा भव्य अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया । जिसमे देश के विभिन्न राज्यों से कवियों और कवायित्रियों ने भाग लेकर अपनी बेहतरीन प्रस्तुतियों से दर्शकों को भगवान श्रीराम के जन्म स्थान में मंत्र मुग्ध कर दिया।
अपने भाषण में प्रधान संपादक  श्याम कुंवर भारती ने बताया कि संस्था का अगला कवि सम्मेलन इंदौर एमपी , मॉरीशस , दुबई ,चित्रकूट और बनारस में होगा । पत्रिका का डिजिटल अंक का  प्रकाशन प्रति माह हो रहा है और हार्ड कोपी में तिमाही प्रकाशन होगा। मेरी भोजपूरी कहानी घुरहू की मेहरारू मुखियाइन पर एक भोजपूरी फिल्म निर्माण की योजना है।
मुख्य कवियों के रूप में लखनऊ से डाक्टर आर के तिवारी मतंग , बिहार से प्रीतम कुमार झा, छत्रीसगढ से नरेंद्र वैष्णव , मध्य प्रदेश से रजनी कटारे की , आशा सखी झा , गुड़गाव हरियाणा से अंजनी शर्मा ,योगी , कानपुर से ओमप्रकाश श्रीवास्तव, लखनऊ से प्रतीभा , नेवाडी मध्य प्रदेश से राम नरेश तिवारी, अयोध्या से हरिकेश प्रजापति , वेद प्रकाश ,अर्चना दुबे , चंद्र दीप यादव, गया प्रसाद और अन्य कई कवियों ने दर्शकों को भरपूर तालियां बजाने को बाध्य कर दिया।

pic

कार्यक्रम के संयोजक सह पत्रिका के प्रधान संपादक श्याम कुंवर भारती, ने देश भक्ति काव्य पाठ कर ले सबको देश भक्ति के रंग में रंग दिया और दर्शकों से तालियां बजवाया वही अयोजन प्रभारी के रूप में आर के तिवारी मतंग अयोध्या ने श्री राम को समर्पित दोहे प्रस्तुत किया, सह संयोजक मनीष देव गुप्ता ने सभी अतिथियों का स्वागत भाषण दिया।
नरेंद्र वैष्णव ने गणेश वंदना ,रजनी कटारे ने सरस्वती वंदना , श्याम कुंवर भारती ने देवी गीत और श्रीराम वंदना से कार्यक्रम को शुरूआत किया। द्वीप प्रज्वलन मतंग भारती , मनीष ,नरेंद्र , अंजनी  हरिकेश , रजनी और आशा ने सामूहिक रूप से किया। सभी कवियों को सम्मान पत्र और श्रीराम का चित्र भेंट कर मेयर अयोध्या के प्रतिनिधि ने सम्मानित किया।
मंच का संचालन  नरेंद्र वैष्णव और अंजनी शर्मा ने अपनी बेहतरीन अदाकारी से कर अयोजन में चार चांद लगा दिया। युवा कवि सह शिक्षक प्रीतम कुमार झा ने  राम मेरा भी है, राम तेरा भी है और हिन्दुस्तान लिखता हूं "गाकर उपस्थित लोगों को झूमने पर विवश कर दिया। धन्यवाद ज्ञापन मतंग ने करते हुए  कार्यक्रम की समाप्ति की घोषणा किया।  (श्याम कुंवर भारती- प्रधान संपादक कहानिका हिंदी पत्रिका)
 

Share this story