झरना माथुर की दो पुस्तके'आहट-ए-जज़्बात'(गीत,ग़ज़ल एवं काव्य संग्रह) तथा 'मॉम रेसिपी ज़रा हटके' का हुआ विमोचन

uk

utkarshexpress.com ,देहरादून - मकर संक्रांति के सुअवसर पर 'राष्ट्रीय कवि संगम' महिला इकाई महानगर, देहरादून के तत्वावधान में 14 जनवरी (शनिवार) को श्रीमती झरना माथुर की दो पुस्तके'आहट-ए-जज़्बात' (गीत, ग़ज़ल एवं काव्य संग्रह) तथा 'मॉम रेसिपी ज़रा हटके' का होटल सिटी स्टार, देहरादून में संम्पन्न हुई।

गोष्ठी की अध्यक्षता डॉ. सुधा रानी पांडे जी वरिष्ठ साहित्यकार पूर्व कुलपति संस्कृत विश्व विद्यालय एवं लोकसेवा आयोग की प्रथम महिला सदस्य। मुख्य अतिथि श्रीमती सविता कपूर (विधायक), विशिष्ठ अतिथि श्रीकांत श्री जी (क्षेत्रीय महामंत्री), वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. राम विनय सिंह जी, वरिष्ठ साहित्यकार श्री शिव मोहन सिंह जी, वरिष्ठ कवि श्री भूदत्त शर्मा जी (हरिद्वार), सारस्वत अतिथि मशहूर शायर जनाब शादाब मशहदी तथा सानिध्य श्री सिद्धार्थ बंसल जी (जिला अध्यक्ष) जी रहे।

संचालन 'राष्ट्रीय कवि संगम' महिला इकाई की महामंत्री कविता बिष्ट 'नेह' जी ने किया। दूसरे सत्र का संचालन जनाब महताब खान 'चाँद' ने किया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रियांशी गुप्ता के गणपति नृत्य एवं कविता बिष्ट 'नेह' की सरस्वती वंदना से हुआ।  अतिथियों के स्वागत माल्यार्पण के पश्चात झरना माथुर  की पुस्तकों का लोकार्पण हुआ। उपस्थित सभी अतिथि, साहित्यकार और मित्रगण द्वारा झरना माथुर को शुभकामनाएं दी। झरना ने श्रीमती उषा सक्सेना झरना की माता जी को मॉम रेसिपी समर्पित की और उनसे आशीर्वाद लिया।वन्दिता श्री, नीरू गुप्ता 'मोहिनी'  ने  झरना माथुर की कविताओं का वाचन किया। डॉ.क्षमा कौशिक जी ऋतु गोयल जी डॉ. अनुपमा सक्सेना ने झरना  के पुस्तकों पर प्रकाश डाला। डॉ विधा सिंह ,श्रीमती डॉली डबराल ,श्रीमती महिमा 'श्री' जी, जसवीर हलधर,  के डी शर्मा, सतेंद्र शर्मा, श्रीमती अम्बिका रूही, डॉ क्षमा कौशिक श्रीमती ऋतु गोयल, संगीता जोशी कुकरेती, नीरू गुप्ता 'मोहिनी'   रेखा जोशी , नीलोफर नीलू , आदि देहरादून के कवियों  की भागीदारी ने आयोजन की शोभा बढ़ाई।

pic

झरना ने ग़ज़ल सुनाकर मन मोह लिया। मुख्य अतिथि श्रीमती सविता कपूर (विधायक) ने आशिर वचन देकर सभी को कृतज्ञता प्रदान की। समस्त विशिष्ठ अतिथियों ने झरना माथुर को शुभकामनाएं प्रेषित की। डॉ. सुधा रानी पांडे के आशिर वचन एवं अध्यक्षीय उद्बोधन से कार्यक्रम को पूर्णिता प्रदान हुई।

अंत में मनोज माथुर  ने सभी का आभार प्रकट किया। सफल और सुंदर आयोजन हेतु झरना  एवं  मनोज माथुर  एवं समस्त प्रतिभागियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

(- कविता बिष्ट 'नेह' महामंत्री, 'राष्ट्रीय कवि संगम' महिला इकाई, महानगर देहरादून, उत्तराखंड)

Share this story