अमृत महोत्सव वर्ष में हिंदी को सम्मान मिले : संगम त्रिपाठी

pic

utkarshexpress.com जबलपुर- आजादी का अमृत महोत्सव सारा देश धूमधाम से मना रहा हैं। सब अपने-अपने हिसाब से इस जश्न को मनाने में लगे हैं और उत्साहित भी है इसी कड़ी में कवि संगम त्रिपाठी संस्थापक प्रेरणा साहित्य संस्था द्वारा "हिंदी प्रचार रथयात्रा" के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार हेतु अपने साथी कवि राम चन्द्र प्रसाद जी कर्ण के साथ संकल्पित मन से कार्य कर रहे हैं।
    प्रेरणा हिंदी प्रचार रथयात्रा जबलपुर मध्यप्रदेश से प्रारंभ होकर राजघाट दिल्ली तक जायेंगी व 10 जनवरी 2022 को विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर शाम 04.00 बजे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धासुमन अर्पित कर उपस्थित कवियों , साहित्यकारों व पत्रकारों के साथ विचार गोष्ठी कर हिंदी की वर्तमान दशा पर चर्चा करेंगी। प्रेरणा के इस ऐतिहासिक आयोजन को सभी का अपार स्नेह मिल रहा है।
   प्रेरणा संस्था के संस्थापक कवि संगम त्रिपाठी ने देश के महामहिम राष्ट्रपति जी, यशस्वी प्रधानमंत्री जी व कर्मठ गृहमंत्री जी को पत्र प्रेषित कर प्रेरणा हिंदी प्रचार रथयात्रा को आशीर्वाद प्रदान करने व हिंदी को राष्ट्रभाषा का दर्जा प्रदान करने हेतु विनम्र अनुरोध किया है। 
    आप सभी साहित्यकारों, कवियों व प्रबुद्धजनों के स्नेहिल आशीर्वाद से हिंदी को राष्ट्रभाषा का सम्मान मिले यह आजादी के अमृत महोत्सव में गौरव की बात होगी।
     प्रेरणा साहित्य संस्था का उद्देश्य हिंदी को सशक्त बनाने की दिशा में एक प्रयास है विदित हो कि प्रेरणा संस्था आजादी के स्वर्ण जयंती वर्ष में भी राजघाट दिल्ली तक हिंदी दिवस के अवसर पर हिंदी प्रचार रथयात्रा का आयोजन किया था ,

Share this story