आज का छंद - जसवीर सिंह हलधर 

pic

यदि जाति धर्म युक्त , राजनीति होगी यहां ,
वैमनस्य होगा और , धारदार देखना ।

चैनलों की तोल पर,नेताओं के बोल पर ,
संविधान होता रोज , शर्मसार देखना ।।

साम्प्रदायिक उन्माद, यदि नहीं सँभला तो ,
लोकतंत्र होता हुआ , तार तार देखना ।

मज़हबी आड़ लेके , आतंकी आएंगे यहां ,
बाज़ारों में दंगे आप , बार बार देखना ।।
 - जसवीर सिंह हलधर , देहरादून 
 

Share this story