वैक्सीनेशन का डोर-टू-डोर चलेगा अभियान : जिलाधिकारी

uk

Utkarshexpress.com देहरादून- देहरादून कैम्प कार्यालय में एस.पी.एस राजकीय चिकित्सा प्रबन्धन समिति और जिला क्षय नियन्त्रण समिति की बैठक दून जनपद के जिलाधिकारी डा0 आर राजेश कुमार की अध्यक्षता में  आयोजित की गयी। इस दौरान बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ0 मनोज उप्रेती, सचिव क्षय रोग नियन्त्रण समिति डा0 मनोज वर्मा सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। वही इस दौरान समिति के सदस्यों द्वारा एस.पी.एस ऋषिकेश चिकित्सालय के संबंध प्रस्तुत बजट के दौरान साथ ही जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि वास्तविक डिमाण्ड को देखते हुए बजट बनायं और मुख्य चिकित्साधिकारी बजट के औचित्य की संस्तुति करेंगे साथ ही बजट खर्च का अनिवार्य रूप से आडिट भी करवाएं।
जिलाधिकारी देहरादून ने क्षय नियंत्रण समिति के सदस्यों को निर्देशित किया कि जो भी टीबी पेशेन्ट ठिक हुए हैं उनको टीबी चैम्पियन बनाएं। टीबी रोग नियन्त्रण कार्यक्रम की तरह एच.आई.वी. और डायबिटिज के नियन्त्रण के संबंध में कमेटी का गठन किया जाए और सभी सरकारी-गैर सरकारी अस्पतालों में टीबी उन्मूलन के साथ ही एच.आई.वी और डायबिटिज की निःशुल्क जांच व इलाज उपलब्ध कराने की कार्यवाही अनिवार्य रूप से पूरी करें। इस दौरान दून जनपद के डीएम ने कोविड-19 वैक्सीनेशन के टीकाकरण का डोर-टू-डोर अभियान तथा प्रत्येक सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण की सुविधा लगातार बनाये रखने के निर्देश देते हुए कहा कि संपूर्ण टीकाकरण की प्रक्रिया में तेजी लायें। उन्होंने कोविड-19 का नया वैरीएन्ट ओमनिक्राॅम को देखते हुए जनपद में बार्डर एरिया में रैण्डमली सैम्पलिंग करने के निर्देश देते हुए कहा कि यदि कोई ओमनिक्राम का संदिग्ध मामला प्रकाश में आता है तो उसको किसी भी दशा में प्रसारित ना होने दिया जाए तथा इसके लिए कन्टेनमेंट जोन इत्यादि जो भी कोविड-19 मानक हैं उस प्रक्रिया का पूर्ण पालन करें।

Share this story