उत्तर कोरिया की हाइपरसोनिक मिसाइल अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए खतरा 

world

 उत्तर कोरिया ने दावा किया है कि देश के नेता किम जोंग उन ने एक हाइपरसोनिक मिसाइल के परीक्षण का निरीक्षण किया और कहा कि इससे परमाणु युद्ध से बचाव की क्षमता में उल्लेखनीय वृद्धि होगी। किम ने सैन्य शक्ति में वृद्धि जारी रखने का भी आह्वान किया। अमेरिका, दक्षिण कोरिया व जापान की सेनाओं ने मंगलवार को कहा था कि उन्हें पूर्वी समुद्र में उत्तर कोरिया द्वारा एक संदिग्ध बैलिस्टिक मिसाइल के परीक्षण का पता चला है।

कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने बुधवार को दावा किया कि हालिया प्रक्षेपण में एक हाइपरसोनिक ग्लाइड व्हीकल शामिल था, जिसने राकेट बूस्टर से छोड़े जाने के बाद 1,000 किलोमीटर दूर समुद्र में एक लक्ष्य को मार गिराया। इससे पहले उसने 'ग्लाइड जंप फ्लाइट' और 'कार्कस्क्रू करतब' का प्रदर्शन किया। एजेंसी की तरफ से जारी तस्वीरों में एक नुकीले शंकु (कोन) के आकार के पेलोड के साथ एक मिसाइल को आसमान में उड़ते देखा गया। मिसाइल नारंगी रंग की लपटों का निशान छोड़ रही थी और किम शीर्ष अधिकारियों के साथ एक छोटे से केबिन से उसे देख रहे थे। यह उत्तर कोरिया द्वारा एक हफ्ते में कथित हाइपरसोनिक मिसाइल की श्रेणी में दूसरा परीक्षण था।

उत्तर कोरिया ने पहली बार सितंबर में हाइपरसोनिक मिसाइल का परीक्षण किया था। केसीएनए ने कहा कि किम ने हालिया परीक्षण को उत्तर कोरिया की सैन्य शक्ति के निर्माण के लिए वर्ष 2021 की शुरुआत में घोषित एक नई पंचवर्षीय योजना का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा बताया।अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि उनका देश उत्तर कोरिया के हालिया प्रक्षेपण की निंदा करता है। यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के कई प्रस्तावों का उल्लंघन है और पड़ोसियों व व्यापक अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए खतरा पैदा करता है।

Share this story